देव भूमि- सीतामढ़ी।

cropped-251798017576916534.jpg

मंदिर की घंटी के साथ ,
जहाँ पढ़ी जाती आजान |
वही दिवाली के संग हम,
मानते है रमजान ||

इन्ही सब बातों ने जहाँ ,
कई कहानी है गढ़ी ,
उस भूमि को कहते हैं,
“सीतामढ़ी” ||

कण-कण में जहाँ ,
शामिल है राम ,
वही माँ सीता की जन्मस्थली को
कहते है पुनौरा धाम |

स्वंय में ही जो है कीर्तिमान,
वो पवित्र जगह है जानकी स्थान ||

जहाँ हर हृदय में ,
बसते हैं सीता-राम
हमारी उस जन्म भूमि को,
अनामिका का शत-शत प्रणाम||

 

– अनामिका सिंह।

1 thought on “देव भूमि- सीतामढ़ी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *