यूनिसेफ के सहयोग से निमोनिया और डायरिया के रोकथाम हेतु आयोजित हुआ कार्यशाला ।

यूनिसेफ एवम सिविल सर्जन कार्यालय के संयुक्त तत्वाधान में निमोनिया और डायरिया के रोकथाम एवम नियंत्रण हेतु समेकित कार्यवाही योजना पर जिलास्तरीय कौशल विकास एक दिवसीय उन्मुखी कार्यशाला का आयोजन डुमरा स्थित होटल साईं रेजीडेंसी में 13 अक्टूबर को किया गया ।

इस उन्मुखी कार्यशाला में स्वास्थ्य विभाग के सभी जिलास्तरीय पदाधिकारी, जिले के सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, सभी प्रखंड स्वास्थ्य प्रबन्धक एवं सभी प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरकों ने भाग लिया ।

कार्यक्रम का शुभारंभ डॉ रणजीत कुमार सिंह, जिला पदाधिकारी सीतामढ़ी , सिविल सर्जन डॉ अनिल कुमार श्रीवास्तव, यूनिसेफ के स्वस्थ विशेषज्ञ डॉ सय्यद हुबे अली, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ दिनेश कुमार निर्मल, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ केडी पूर्बे, यूनिसेफ की स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सरिता वर्मा , डॉ निवेदिता जिला समन्वयक यूनिसेफ, प्रशांत कुमार क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबन्धक, तिरहुत प्रमंडल, आशीष कुमार राज्य समन्वयक IAPPD कार्यक्रम यूनिसेफ, राजेश कुमार प्रमंडलीय समन्वयक यूनिसेफ, प्रभात कुमार जिला मूल्यांकन एवम अनुश्रवण पदाधिकारी DHS आदि अन्य गणमान्य व्यक्तियों द्वारा संयुक्त रूप से किया गया ।

डीएम डॉ रणजीत कुमार सिंह ने कहा निमोनिया और डायरिया रोकथाम एवम नियंत्रण के लिए हम सभी को संयुक्त रूप से प्रयास करना होगा ताकि हम अपने जिले से इस बीमारी को खत्म कर सके । उंन्होने बताया कि इन बीमारियों की पहचान समुदाय स्तर पर सही समय पर होनी चाहिए और अगर बीमारी की अवस्था गम्भीर है तो तुरंत रेफरल व्यवस्था सुनिश्चित करना होगा । जिले में यूनिसेफ के सराहनीय सहयोग के लिए डीएम ने धन्यवाद भी दिया ।

डॉ सय्यद हुबे अली, स्वास्थ्य विभाग, यूनिसेफ ने कहा कि जैसा हम सब जानते हैं बिहार में 12,00,000 बच्चें प्रतिवर्ष 5 साल तक की उम्र भी नहीं जी पाते हैं। जबकि तुरन्त समुचित प्रबंधन कर बाल मृत्यु दर में कमी की जा सकती हैं और इन बच्चों को बचाया जा सकता है । ऐसा माना गया कि प्रतिवर्ष 13,000 बच्चे डायरिया से, 19,000 बच्चे निमोनिया से मर जाते हैं। NFHS-4 2015, SE सर्वे से पता चलता है कि तिरहुत प्रमंडल में डायरिया और निमोनिया से मरनेवाले बच्चेन सबसे अधिक हैं । यूनिसेफ डायरिया एवम निमोनिया के रोकथाम एवम नियंत्रण हेतु समेकित कार्यवाही कार्यक्रम ( IAPPD) को पूरे जिला में स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से क्रियान्वित कर रहा है । इसमे हमारे प्रशिक्षक प्रखंड में जाकर आशा, एएनएम एवम आँगन बारी कार्यकर्तओं को प्रशिक्षित कर रहे हैं।

सिविल सर्जन, सीतामढ़ी डॉ अनिल कुमार श्रीवास्तव कार्यशाला के उद्देश्य पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला । उंन्होने बताया कि यूनिसेफ के सहयोग से जिले में अभी तक 1244 आशा, 144 एएनएम, 922 आशा एवम आँगन बारी कार्यकर्ताओं को डायरिया एवम निमोनिया रोकथाम और नियंत्रण पर प्रशिक्षित किया गया है । शेष कार्यकर्ताओं को जल्द प्रशिक्षित करने का लक्ष्य है ।

कार्यशाला में चार स्किल स्टेशन के माध्यम से प्रतिभागियों को प्रशिक्षित करने के लिए पोस्टर, पैम्फलेट एवम उपकरणों के प्रदर्शन एवम उपयोग करने के तरीकों के बारे में बताया गया ।

पहले स्किल स्टेशन में सामुदायिक स्तर पर डायरिया की रोकथाम एवम प्रबंधन के साथ सही तरीके से हाथ की सफाई, ओआरएस बनाने का सही तरीका एवम जिनक की गोली के उपयोग को प्रदर्शित किया गया ।

दूसरे स्किल स्टेशन में निमोनिया प्रबंधन में इसके पहचान के तरीकों एवम प्रबंधन , बच्चेम में कुपोषण की माप एवम बच्चे का वजन लेने का सही तरीका एवम सही से कपड़ा लपटने हेतु तरीके को प्रदर्शित किया गया ।

तीसरे स्किल स्टेशन में सामुदायिक स्तर पर बच्चे में तेज सांस के वृद्धि की गिनती, एवम तापमान और लम्बाई के मापने के सही तरीकों को प्रदर्शित किया गया ।

चौथे स्किल स्टेशन में सामुदायिक स्तर पर स्तनपान के सही तरीके एवम बच्चे की ग्रोथ मोनिटरिंग की सही तरीके के बारे में जानकारी दिया गया ।

विदित हो IAPPD कार्यक्रम का शुभारम्भ प्रमंडल में 10 जुलाई 2018 को प्रमंडलीय आयुक्त द्वारा किया गया था । इस कार्यक्रम के तहत प्रमंडल के सभी आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को उन्मुखीकरण किया जाना है ताकि शिशु मृत्यु दर में कमी लाया जा सके ।

यूनिसेफ की स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सरिता वर्मा निमोनिया और डायरिया के रोकथाम और नियंत्रण के सम्बंध में प्रतिभागियों को प्रशिक्षित किया । कार्यक्रम में अरविंद कुमार सिंह, पंकज कुमार, रणधीर कुमार, संजय कुमार और मणिभूषण शरण ने सक्रिय भूमिका निभाई । धन्यवाद ज्ञापन यूनिसेफ के प्रमंडलीय समन्वयक राजेश कुमार ने किया ।

साभार : डीपीआरओ,सीतामढ़ी

आर्टिकल : रंजीत पूर्बे

लाइक कीजिये सीतामढ़ी पेज http://facebook.com/Sitamarhi और जुड़े रहिये अपने शहर सीतामढ़ी से । 79,000 Followers के साथ सीतामढ़ी का न.1 पेज । सीतामढ़ी का सबसे बड़ा सोशल वेब पोर्टल ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *