बड़ी कारवाई : तीन अधिकारियों को डीएम ने किया निलंबित । होगी विभागीय कारवाई ।।

बिग ब्रेकिंग- बड़ी करवाई…………….डीएम ने पूर्व सीडीपीओ सुप्पी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने तथा उनपर विभागीय करवाई शुरू करने को लेकर प्रधान सचिव,समाज कल्याण विभाग को लिखा पत्र।……..

सुप्पी सीडीपीओ कार्यालय के लिपिक रामअयोध्या ठाकुर को किया निलंबित…..

बाल विकास परियोजना,नानपुर की महिला पर्यवेक्षिका को भी किया चयनमुक्त…….

सुनिए डीएम ने क्या कहा :

सीतामढ़ी- डीएम डॉ रणजीत कुमार सिंह ने अपने सिद्धान्त कार्य मे अनिमियता,शिथिलता, लापरवाही करने वाले से जीरो टॉलरेंस की नीति पर अमल करते हुए, एक ही दिन में तीन बड़ी करवाई की है। उन्होंने वित्तीय अनिमियता,वरीय अधिकारियों की अवहेलना,समय पर प्रभार नही देना आदि कई कारणों से सुप्पी की पूर्व सीडीपीओ संगीता कुमारी को तत्काल प्रभाव से निलंबन करने एवम उनपर विभागीय कार्यवाही चलाने हेतू प्रधान सचिव,समाज कल्याण विभाग को पत्र लिखा है। गौर तलब हो को विगत 20 सितम्बर को डीएम ने उक्त सीडीपीओ को भगलपुर में योगदान देने एवम कुछ प्रशासनिक कारणों से विरमित किया था। विरमित होने के वावजूद उनके द्वारा वर्तमान सीडीपीओ को प्रभार नही देने के कारण वर्तमान सीडीपीओ को वरीय अधिकारी के आदेश के आलोक में स्वत् पदभार ग्रहण करना पड़ा।भगलपुर में योगदान देने के वावजूद सुप्पी के कैशबुक पर 3 अक्टूबर तक हस्ताक्षर करना आदि वित्तीय अनिमियता की ओर संकेत करते है।

बताते चले कि डीएम को लगातार परियोजना कार्यालय सुप्पी में सेविका/सहायिका के चयन प्रक्रिया में भी गड़बड़ी की शिकायत प्राप्त हो रही थी। वही दूसरी तरफ डीएम ने सीडीपीओ कार्यालय के लिपिक राम अयोध्या ठाकुर को भी वित्तीय अनिमियता में संलिप्तता, वरीय अधिकारी के आदेश का अवहेलना आदि को लेकर उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है तथा निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय डीपीओ कार्यालय सीतामढ़ी कर दिया है।

डीएम ने बाल विकास परियोजना कार्यालय,नानपुर की महिला पर्यवेक्षिका आशा कुमारी को सेविका/सहायिका चयन में भ्रस्टाचार में संलिप्त होने कारण तत्काल प्रभाव से उसे चयनमुक्त कर दिया है।

गौरतलब हो कि शिकायतकर्ता नाज़िया प्रवीण द्वारा एक वीडियो क्लिप उपलब्ध करवाया गया था,जिसमे महिला पर्यवेक्षिका एवम नाज़िया प्रवीण के पति अकबर अली के बीच वार्तालाप में महिला पर्यवेक्षिका आशा कुमारी द्वारा उनसे ली गई अवैध रकम लौटने की बात स्वीकार की गई है,साथ ही उक्त ऑडियो से आशा कुमारी की संलिप्तता पूरी से प्रमाणित होता है।डीएम ने शिकायतकर्ता नाज़िया के पति मो0 अकबर अली पर भी सरकारी कार्य के लिए अवैध रकम देने को लेकर उनपर भी प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया है।

डीएम ने कहा है कि प्रशासन पूरी पारदर्शिता के साथ काम कर रही है,अनिमियता, लापरवाही एवम कार्य मे शिथिलता बरतने वाले अधिकारी एवम कर्मी किसी भी हाल में बख्से नही जाएंगे, वही अच्छे कार्य करने वाले पदाधिकारी एवम कर्मी पुरस्कृत भी किये जायेंगे साथ ही मेरा पूर्ण सहयोग उनके साथ होगा। कुछ लोगो के गलत आचरण से प्रशासन एवम सरकार की छवि को नुकसान नही होने दिया जाएगा।

साभार : डीपीआरओ,सीतामढ़ी

आर्टिकल : रंजीत पूर्बे

लाइक कीजिये सीतामढ़ी पेज http://facebook.com/Sitamarhi और जुड़े रहिये अपने शहर सीतामढ़ी से । 79,000 Followers के साथ सीतामढ़ी का न.1 पेज । सीतामढ़ी का सबसे बड़ा सोशल वेब पोर्टल ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *