मेहसौल चौक से जाम की लाइव रिपोर्टिंग

Mehsaul chowk jaamमेहसौल चौक हमारे सीतामढ़ी का सबसे प्रमुख चौराहा है। काफी व्यस्त और भीड़ भाड़ वाला इलाका है। कमोबेश हमेशा वहाँ जाम की स्थिति बनी रहती है। हम सभी सीतामढ़ी निवासी कभी न कभी जरूर वहाँ जाम में फंसे होंगे। जाम में फंसना अपने आप में बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण होता है लेकिन फिर भी लोगों के क्रियाकलापों पर गौर कीजिये तो वहाँ भी आपको मुस्कुराने पर मजबूर होना पड़ेगा। आइये जाम के इस तनाव को कम करते हैं लोगों के कुछ निराले अंदाज से।
मेहसौल चौक पर तीन तरफ रास्ता जाता है- एक सीतामढ़ी टाउन की तरफ,दूसरा डुमरा की तरफ और तीसरा बसबरिया की तरफ। तीनो ही रास्तों से काफी भीड़ आती जाती है और रास्ता भी कितना चौड़ा है आप को पता ही है ऐसे में जाम लग भी जाता है तो कोई अन्याय नहीं हो जाता है। मेरा घर वैष्णोदेवी मंदिर के पास  है। मैं अपने घर से एक दोस्त के साथ passion pro मोटरसाइकिल से डुमरा जाने के लिए निकला। 2 बजे दिन के आसपास का समय है। धूप अपने चरम पर है। महंथसाह चौक होते हुए बाटा तक हमें कोई जाम नहीं मिला। हम आराम से आगे बढ़ रहे है। आगे भीड़ बढ़ती नजर आ रही है। जैसे ही हम किरण चौक के पास पहुँचे उ लंबा जाम लगा था की कुछो बुझाइए नहीं रहा था आगे। गाड़ी सब एक दम धीरे धीरे ससर रहा था। हम लोग भी दायां बयां काटते हुए धीरे धीरे आगे बढ़ रहे थे कैसे भी।और ऊपर से जून का गर्मी। धीरे धीरे लखनदेई पुल पर पहुँचने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। पुल की चौड़ाई का आधा हिस्सा दोनों तरफ से आम और लीची से भरा पड़ा था। रोड कम फल मंडी ज्यादा लग रहा था। और ऊपर से कुछ लोग आराम से मोटरसाइकिल, साइकिल, रिक्शा रोक के आम तौलबा रहे है। लीची छिल छिल के चख कर के ले रहे है। भाई सामान में ठगाना नहीं न चाहिए चाहे जाम जितना लंबा लगे उससे क्या। उधर साइड में पुल पर बाईं तरफ मानवनिर्मित मूत्रालय भी लोगों के अथक जनसहयोग से सुचारू रूप से चल रहा है। लोग गाड़ी खड़ी करते है लघुशंका करते है बजाप्ते से तब आगे बढ़ते है। अरे भाई अपना शहर है काहे का टेंशन। इन सब के बीच हम पुल पार कर के आगे बढे। आधा घण्टा हो चूका है हमे निकले हुए। अब हम ठीक मेहसौल चौक पर है। बीचोबीच जाम में फंसे हुए। पसीने से लथपथ….अग्निपथ अग्निपथ।
असहाय ट्रैफिक पुलिस कर्मी इधर उधर सिर्फ देख पा रहा है। कोई बेचारे की सुन ही नहीं रहा। टेंपोवाला सब इतना जाम में भी उधर पान के दुकान साइड से खड़ा कर के रोके हुआ है सवारी के लिए। पुलिस वाला बस एक दो डंटा उसके टेंपो पर मार दिया बीच बीच में हो गया। काहे की टेंपो वाले से ही तो हमारे पुलिस वालों का खैनी बीड़ी चलता है। सब का अपना अपना मज़बूरी है। क्या कीजियेगा। ट्रैफिक नियम का तो समझिये धज्जियां उड़ जाता है यहाँ पर। जिसको जहाँ जगह मिला वहीं घुसा दिया। सबको जल्दिये रहता है। बाइक वाला सब तो और मतलब की मत पूछिये लोग को चलने भी नहीं देता है ठीक से। हम लोग भी इसी में फंसे हुए है। धीरे धीरे आगे बढ़ रहे है। तभी एक रिक्शा वाला आगे एक कार में सटा दिया। कार वाला भी इसी में गाड़ी से उतर कर शर्ट को हाथ पर मोड़ते हुए रिक्शा वाला को गरियाते हुए 2-4 हाथ लगा के आराम से चुप चाप फिर जा के कार में बैठ गया। पुलिस देख रही है। इतना जाम में भी आइसक्रीम वाला अपन ठेला रोड पर ही लगये हुए है और आइसक्रीम बेच रहा है। लोग भी खरीद के खा रहे है। गाड़ी सब ससर रहा है। कोनो ऐने पान खा के थूक रहल है कोनो ओने खैनी मल रहल है। सब एक दम आराम से हो रहा है। कोई टेंशन न है। ऐसे ही होते होते हम लोग किसी तरह नवरंग स्वीट्स तक पहुँचे आधा घंटा में। फिर यहाँ से आगे रास्ता लगभग ठीक रहता है। ज्यादा जाम नहीं रहता है। सायें सायें निकल गए हम लोग भी डुमरा की तरफ।
लगभग कुछ ऐसा ही स्थिति होता है मेहसौल चौक पर जाम के समय पर।

4 thoughts on “मेहसौल चौक से जाम की लाइव रिपोर्टिंग

  1. वाह भाई की लिखला हा, लगैत रहलाक हा की हमहू मोटरसाइकिल पर बइठल छी जाम में।

    1. हमरे साथे न बईठल छी आहाँ भुला गली की। हाहाहा

    1. बहुत बहुत धन्यवाद इस स्नेह के लिए शाहीन भाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *