सीतामढ़ी की आकांक्षा अंशु ने शुरू की हवाई यात्री के लिए भारत की पहली मुआवजा प्रबंधन कम्पनी ।

जगत जननी माँ जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी प्रतिभाओं के मामले में काफी उर्वर हैं । यहां की कई बेटे बेटियां अपनी प्रतिभा से देश दुनिया को आलोकित कर रहें हैं।
बेटियों की बात करें तो सीतामढ़ी की आशा खेमका, पल्लवी विश्वास, आशा प्रभात, भावना द्विवेदी, दीक्षा द्विवेदी, नलिनी सिंह, रत्ना वीरा, रितु जायसवाल, प्रतिभा प्रिया, नेहा राठौड़,प्रेरणा सिन्हा, मधुबाला, नेहा सिंह जैसे कई नाम है जिन्होंने देश दुनिया मे सीतामढ़ी का नाम रौशन कर रहीं है । इन्हीं दिनों एक नया नाम जुड़ गया है आकांक्षा अंशु ।

सीतामढ़ी की आकांक्षा अंशु एक भारतीय दूरदर्शी, उद्यमी और 3 सफल उपक्रमों की संस्थापक हैं । वह एक एंटरप्राइज टेक्नोलॉजी पृष्ठभूमि से आती है, इंजिनयरिंग की डिग्री रखती है और आईटी सेवाओं से लेकर अंतर्राष्ट्रीय बाजार के लिए बिजनेस डेवलेपमेंट तक, अब तक विभिन्न भूमिकाएं निभा चुकी हैं ।

2016 में आकांक्षा अंशु ने भारत की पहली मुआवजा प्रबंधन कम्पनी की स्थापना की, जो हवाई यात्री के हितों को सुरक्षित रखने का कार्य करती है जो ”रिफंड मी डॉट इन” के नाम से लोकप्रिय है Refundme.in

ये रहा वेबसाइट लिंक : http://www.refundme.in

ये रहा रिफंड मी डॉट इन का फेसबुक पेज लिंक :

https://www.facebook.com/refundmeIndia

जुलाई 2016 में स्थापित refundme.in भारत की पहली मुआवजा प्रबंधन कम्पनी है । कम्पनी एयरलाइन के साथ तालमेल करती है और हवाई यात्री को सम्भावित मुआवजा देना सुनिश्चित करती है ।

कम्पनी ने हाल ही में मिस्टर बोई (Mr. Boie) नामक 1 फ्लायर्स अस्सिटेंट एप्प लांच किया है, जो 300 से ज्यादा हवाई अड्डा और एयरलाइन्स के बारे में जानकारी प्रदान करता है । एप्प के माध्यम से फ्लायर्स उड़ान में देरी की भविष्यवाणी भी कर सकता है जो एक एकीकृत एआई तकनीक है । साथ ही यात्रा कार्यक्रम का प्रबंधन कर सकते हैं ,अनुस्मारक तय कर सकते हैं , साथ ही बजट का प्रबंधन भी कर सकते हैं ।

गूगल प्ले स्टोर से आप ये एप्प डाऊनलोड कर सकते हैं । ये रहा लिंक : https://play.google.com/store/apps/details?id=in.refundme.refundme

AVision Foundation : आकांक्षा अंशु द्वारा स्थापित दूसरी कम्पनी है ”एविजन फाउंडेशन” । एविजन की स्थापना यात्रियों के यात्रा अनुभव को बढाने के दृष्टिकोण के साथ कि गयी है । और इसका उद्देश्य भारत मे यात्री अधिकारों के लिए एक पारदर्शी दृष्टिकोण को बढ़ावा देना है ।

ये रहा वेबसाइट लिंक : http://www.avisionfoundation.com

Quantumsoftec.com : आकांक्षा अंशु द्वारा स्थापित यह तीसरी कम्पनी है क्वांटम सॉफ्टेक डॉट कॉम । यह एक आईटी कम्पनी है ।

ये रहा वेबसाइट लिंक : https://www.quantumsoftech.com/

आकांक्षा अंशु के लगन और मेहनत का परिणाम है कि नया स्टार्टअप करने का जो विचार एक पार्क में शुरू हुआ, उसका कार्यालय आज 7500 sq feet में दिल्ली जैसे बड़े शहर में सफलता पूर्वक चल रहा है । पिछले तीन साल में आकांक्षा ने लगभग एक सौ लोगों को नौकरी के लिए प्रेरित किया । आज आकांक्षा 3 कम्पनी का सफल संचालन कर रही हैं ।

वास्तविक जीवन मे समस्याओं को हल करने की गहरी दिलचस्पी ने तीन साल में कम से कम 100 लोगों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया । वह दृढ़ता से विश्वास करती है कि किसी भी समस्या को समझ कर ही उसका समाधान प्राद्योगिकी की मदद से एक पारंपरिक दृष्टिकोण के साथ बहुत तेजी से किया जा सकता है ।

आकांक्षा अंशु का जन्म सीतामढ़ी में हुआ । उनके पिता का नाम श्री अखिलेन्द्र नाथ वर्मा है । पिता जी वरिष्ठ वकील हैं और माँ कुशल गृहणी । आकांक्षा ने दसवी की पढ़ाई डुमरा स्थित एनएसडीएवी से 2005 में और 12 वीं 2007 में प्रथम श्रेणी के साथ पूरी की ।

आगे आकांक्षा ने पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी से 2012 में कंप्यूटर साइंस में इंजिनीयरिंग की पढाई पूरी की ।आकांक्षा हमेशा संख्याओं का पीछा करने के बजाय सीखने की प्रक्रिया को प्राथमिकता देती रही है । उनका कहना है कि उनके जीवन मे उनके परिवार, माता पिता एवम एनएसडीएवी डुमरा के शिक्षकों का भी महत्वपूर्ण योगदान है ।

इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के बाद MNC में काम करने के बजाय आकांक्षा ने 2012 में बंगलोर की एक छोटी सी आईटी फर्म के साथ अपने कैरियर की शुरुआत की । वहां उन्होंने मार्च 2016 तक काम किया ।

उनके लिए ‘सीखना एक प्राथमिकता है” और वह मानती है की नेतृत्व के लिए मानव व्यवहार और बेहतर समझ होना महत्वपूर्ण है । उन्होंने अपने कार्यकसल के दौरान अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी काम की और कई विभिन्न महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाई। आज आकांक्षा अंशु 3 सफल उपक्रमों की संस्थापक हैं ।

पढाई लिखाई में बचपन से अव्वल रहने के साथ साथ खेल कूद जैसी गतिविधियों में भी आकांक्षा अंशु बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेती थी । छठी कक्षा के बाद ही ही उन्होंने कई पत्र-पत्रिकाओं में आर्टिकल लिखना शरू कर दी । वह डीएवी स्कूल में टेबल टेनिस की अच्छी खिलाड़ी थी । नॉर्थ जॉन में वह टेबल टेनिस की विजेता भी रही हैं । वार्षिक क्रीड़ा उत्सव में वह टेबल टेनिस की उपविजेता रही ।

स्कूल के दिनों से ही एक अच्छी खिलाड़ी भी रही आकांक्षा कॉलेज में भी अपने इस जलवा को बरकरार रखी । कॉलेज में सांस्कृतिक गतिविधियों आदि में भी वह हिस्सा लेने लगी । वह अपने इंजीनियरिंग कॉलेज की टेक्निकल क्लब की हेड भी थी । कॉड क्रैकिंग में भी उसे प्रथम पुरस्कार मिला । वह अपने कॉलेज में इवेंट कॉर्डिनेटर भी थी । कॉलेज की प्लेसमेंट कॉर्डिनेटर भी थी । काफी सक्रिय रहीं है आकांक्षा अंशु स्कूल से लेकर कॉलेज तक । पढाई से लेकर खेलकूद तक । टीम मैनेजमेंट से लेकर टीम लीडिंग करने तक मे ।

समाचार पत्र एवम मीडिया ने भी आकांक्षा अंशु के कारण की सराहना की । The Quint, Business Insider, The Economic Times, Business Standard आदि ने आकांक्षा को कवरेज दिया ।
इंटरव्यू और डिस्कसन आदि के लिए भी उन्हें कई सेमिनार, कार्यक्रमों आदि में आमन्त्रित किया जाता रहा है जैसे YourStory, StartUpUrban,TheRevolutionWave आदि ।

अभी हाल ही में दिसम्बर,2019 के एडिशन में पत्रिका Fashion Bud में आकांक्षा अंशु को कवरेज किया गया है।

आकांक्षा अंशु जमीन से जुड़ी हुई है । हमेशा दूसरों की मदद करने को उत्सुक रहती हैं । इसी स्वभाव के कारण वह कई एनजीओ से जुड़ी हुई है । और समय समय पर जरूरमन्दों की मदद भी करती हैं। खासकर गरीब और शिक्षा से वंचित रहनेवाले बच्चों के लिए वह कुछ करना चाहती हैं। इसीलिए आकांक्षा समाज सेवा में सक्रिय रहना चाहती हैं । Organ India संस्था के माध्यम से आकांक्षा अपनी अंगदान करने की घोषणा कर चुकी हैं ।

आकांक्षा को सीतामढ़ी और बिहार से भी उतना ही प्रेम है । वर्षों से दिल्ली में हैं, उससे पहले बंगलोर रही लेकिन अपनी मिट्टी से हमेशा जुड़ी रही । परिवार और संस्कार को उच्च आदर्शों के साथ वैल्यू करती है । घर से दूर होने पर भी घर परिवार में मनाए जाने वाले सभी पर्व त्योहार अपने ऑफिस में लोगों के साथ उतनी ही हर्षोल्लास के साथ मनाती है ।

सीतामढ़ी की उद्यमी बेटी आकांक्षा अंशु को हार्दिक शुभकामनाएं । बधाई ।

सीतामढ़ी वेब परिवार आपके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता है ।

आर्टिकल : रंजीत पूर्बे

लाइक कीजिये Sitamarhi Page और जुड़े रहिये अपने शहर से ।ये रहा लिंक सीतामढ़ी पेज लिंक : http://facebook.com/Sitamarhi

2010 में स्थापित सीतामढ़ी फेसबुक पेज के वर्तमान में 1 लाख 25 हज़ार फॉलोवर्स हैं । सोशल मीडिया पर यह सीतामढ़ी का सबसे बड़ा, सबसे पुराना और सबसे भरोसेमंद वेब पोर्टल है । सीतामढ़ी के सारे वीडियो देखने के लिए सीतामढ़ी यूट्यूब को सब्सक्राइब कीजिये :

http://Youtube.com/SitamarhiPage

Article by :

RANJEET PURBEY

Thank You !!

Sitamarhi Web Family

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *